Best Hindi Love Shayari | Latest Emotional Shayari

Best Hindi Love Shayari | Latest Emotional Shayari

हिंदी लवशायरी Hindi Love Shayari attitude quotes whatsapp status Hindi Shayari Sad Shayari whatsapp quotes Dosti Shayari 


Best Hindi Love Shayari | Latest Emotional Shayari
Best Hindi Love Shayari | Latest Emotional Shayari


है अगर बेवफा तो मत कहो बुरा उसको
जो हुआ सो हुआ खुश रखे खुदा उसको
नजर ना आए तो तलाश में रहना उसकी
कहीं मिले तो मुड़कर ना देख ना उसको



"उन्हें तो खुदा भी बक्स देता जिनकी किस्मत खराब होती हैं 
वो हरगिज नहीं बक्से जाते जिनकी नियत खराब होती है



ना मेरा एक होगा न तेरा लाख होगा 
ना तारीफ तेरी होगी न मजाक मेरा होगा
 गौर ना करो शाह ए शरीर पर इतना 
तेरा भी खाक होगा मेरा भी खाक होगा"

आजकल मोहब्बत पर भरोसा नहीं रहा साहेब 
कहने को दिल छोटा है लेकिन रहते बहुत लोग हैं

यार एक बात पूछूं
हमें उनसे ही प्यार क्यों होता है 
जिसका मिलना हमारी
किस्मत में नहीं होता



एक फूल बहुत अजीब था
वो कभी मेरे दिल के करीब था
जब चाहने लगे उसे हद से भी जादा
तो पता चला वो हमसे भी जादा
किसी और के करीब था




बिन बात के ही रूठने की आदत है 
सच कहो तो किसी अपने की चाहत है,
आप खुश रहे मेरा किया है में तो आईना हूं 

मुझे तो टूटने की आदत है


मैं जी रहा हूं तुझसे मिलने की आस में
कैसे बताऊं  तुझे देखे बिना

मेरा भी तो दिल नहीं लगता है क्लास में



ना तेरे आने की खुशी ना तेरे जाने का गम
बीत गया वह जमाना जब तेरे दीवाने थे हम




सुबह उदास होगी शाम उदास होगी
सफेद चादर में लिपटी हुई मेरी लाश होगी
ये दफनाने वाला मुझे वहां दफनाना
जहां मेरी जान से मुलाकात होगी




कभी करते हैं जिंदगी की तमन्ना,
कभी मौत का इन्तज़ार करते हैं ,
वो लोग हमसे क्यूं दूर रहते हैं,, 
जिन्हे हम अपने जिंदगी से ज्यादा प्यार करते




एक फूल बड़ा अजीब था।  
वो हमारे दिल के बहुत करीब था
जब से चाहने लगे उनको
पता चला वो किसी और का नसीब था




न जाने कौन सी रीत है जमाने की
जो मिलती ही जा रही है सजा यहां दिल लगाने की
ना बिठाओ किसी को अपने दिल में इतना ज्यादा कि
फिर तुम्हें 1 दिन दुआ मांगनी पड़े उसे भूल जाने की





कभी करते हैं जिंदगी की तमन्ना,
कभी मौत का इन्तज़ार करते हैं ,
वो लोग हमसे क्यूं दूर रहते हैं,, 
जिन्हे हम अपने जिंदगी से ज्यादा प्यार करते हैं




"कौन हूँ मैं
ऐ जिंदगी अब तू ही बता दे
थक गया हूँ मैं खुद का पता ढूँढते ढूंढ़ते"



जाने दुनिया में कैसे कैसे लोग रहते है,
कुछ लोग हँसा देते है तो कुछ लोग रुला देते है



एक ही जख्म नहीं पूरा वजूद ही जख्मी है,
कमबख्त दर्द भी हैरान है आखिर उठे तो उठे कहां से


आंखों में दौड़ते फिरने
के हम नहीं कायल,
जब आंख ही से न टपका,
तो  काहे का आंसू



मैं खुद से पूछता हू वो गई वो गई क्या
वो जो ख्वाहिश थी बादल उड़ने की सो गई क्या

मैं पूछता भी तो क्या मिल गई थी 1 दिन
मैंने पूछा कल तुम्हारी शादी थी हो गई क्या



उसने कहा किसी की आंखों में डूब जाते हो
मैंने कहा आंख है पानी का कोई तालाब नहीं
उसने कहा क्यों मुझसे इतना टूट कर चाहते हो 

मैंने कहा दिमाग से खाली था और कोई बात नहीं


करते हैं यह फरमाइश सब की पूरी 
अपनी जरूरतों का जिक्र नहीं करते
जी हां जनाब यह लड़के ही हैं 

जो उठाए रहते हैं जिम्मेदारियां अपने कंधों पर 
और जरा सी उफ तक नहीं करते


सवाल "ज़हर" का नहीं था.वो तो मैं पी गया !
तकलीफ़ लोगों को तब हुई.जब मैं ज़हर पी के भी जी गया !!



ना मुस्कुराने को जी चाहता है !
ना आंसू बहाने को जी चाहता है !
लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद में !
बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है !!



दुनिया में किसी से कभी प्यार मत करना !
अपने अनमोल आँसू इस तरह बेकार मत करना !
कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं !
फूलों पर कभी इस तरह तुम ऐतबार मत करना !!



ना हम रहे दिल लगाने के क़ाबिल !
ना दिल रहा गम उठाने के क़ाबिल !
लगा उसकी यादों से जो ज़ख़्म दिल पर !
ना छोड़ा उस ने मुस्कुराने के क़ाबिल !!

Comments